सेबी का कमोडिटी एक्सचेंजों को निर्देश-'संवेदनशील' कृषि उत्पादों की पहचान करें

सेबी कमोडिटी मार्केट को भरोसेमंद बनाने और भारी सट्टेबाजी पर लगाम लगाने के लिए खासी मशक्कत कर रहा है। इसी सिलसिले में उसने एनसीडीईएक्स, एमसीएक्स, एनएमसीई समेत देश के सभी कमोडिटीज एक्सचेंज को 'संवेदनशील' कृषि उत्पादों की पहचान कर उसे तीन कैटेगरी में बांटने के निर्देश दिए हैं। सेबी ने कहा है कि इस वर्गीकरण के लिए फसलों के औसत उत्पादन और इंपोर्ट डेटा को आधार बनाना होगा। इसमें उन कृषि उत्पादों को शामिल किया जाएगा जो सरकारी दखलअंदाजी से तुरंत प्रभावित होते हैं और जिनकी
कीमतों में पूर्व में सबसे ज्यादा छेड़छाड़ की गई हो। 

सेबी के सर्कुलर के मुताबिक, इन संवेदनशील कृषि उत्पादों या जिंस में डेरिवेटिव्ज ट्रेडिंग को  सीमित किया जा सकता है। सेबी ने यह फैसला हितधारकों से मिली प्रतिक्रिया के बाद लिया है। सेबी का मानना है कि अभी कृषि उत्पादों की डेरिवेटिव्स ट्रेडिंग के लिए जो लिमिट है, वह पर्याप्त नहीं है और साथ ही संबंधित कृषि उत्पादों की आपूर्ति के अनुरूप नहीं है। 

सेबी ने सभी राष्ट्रीय कमोडिटी डेरिवेटिव्ज एक्सचेंज को कृषि उत्पादों को सालाना आधार पर तीन कैटेगरी-Sensitive (संवेदनशील), Broad (मुख्य, वृहत) और Narrow (सीमित, संकरा) के अंतगर्त बांटने को कहा है। 

इस संबंध में सेबी का सर्कुलर विस्तार से पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाएं....
(Position Limits for Agricultural Commodity Derivatives

(कमोडिटी में ट्रेडिंग करना चाहते हैं, पहले जान लीजिए कुछ खास बातें 
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक कहां जल्दी से कैश (तरलता) की उम्मीद करते हैं-म्युचुअल फंड्स, इक्विटीज, डिबेंचर्स, कमोडिटी फ्यूचर्स, डेरिवेटिव्स?

(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक कहां ज्यादा रिटर्न की उम्मीद करते हैं-कमोडिटी फ्यूचर्स, डेरिवेटिव्स, डिबेंचर्स, इक्विटीज या  म्युचुअल फंड्स ?

(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: बॉन्ड्स, इक्विटीज, म्युचुअल फंड्स में से किसको सबसे ज्यादा सुरक्षित मानते हैं निवेशक ?

(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: रिस्क, रिटर्न के बारे में क्या सोचते हैं निवेशक ?

((आप अगर कमोडिटीज डेरिवेटिव्ज ट्रेनर्स बनना चाहते हैं, तो सेबी के इन नियमों का पालन करें  

No comments