कमोडिटी एक्सचेंज आईसीईएक्स पर अगस्त तक फिर से ट्रेडिंग शुरू होगी, सेबी ने परिचालन शुरू करने के लिए दी अंतिम मंजूरी


भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड :सेबी: ने इंडियन कमोडिटी एक्सचेंज :आईसीईएक्स:को ट्रेडिंग परिचालन फिर शुरू करने के लिए अंतिम मंजूरी दे दी है। इस एक्सचेंज को रिलायंस कैपिटल का समर्थन है।

एक्सचेंज ने कहा कि वह अगले महीने के अंत तक तीन साल बाद ट्रेडिंग कारोबार फिर शुरू करेगा। एक्सचेंज ने कहा कि उसने इस बारे में सेबी के सभी अनिवार्य नियमों का अनुपालन पूरा कर लिया है।

आईसीईएक्स के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजीत प्रसाद ने बयान में कहा,  आईसीईएक्स को परिचालन फिर शुरू करने की अनुमित देने के लिए हम सेबी के आभारी हैं। सभी आवश्यक मंजूरियां हासिल की जा चुकी हैं। अब अगस्त, 2017 के अंत तक एक्सचेंज फिर परिचालन शुरू करने के लिए तैयार है। आईसीईएक्स जिंसों के लिए स्क्रीन आधारित आनलाइन डेरिवेटिव्स एक्सचेंज है। उसे कारोबार शुरू करने और हीरे में कारोबार करने के लिए सेबी की मंजूरी पहले ही मिल चुकी है। एक्सचेंज ने कच्चे तेल और ब्रेंट तेल अनुबंधों के लिए भी आवेदन किया है।


कमोडिटी में ट्रेडिंग करना चाहते हैं, पहले जान लीजिए कुछ खास बातें 
((सेबी ने कमोडिटी फ्यूचर्स में ऑप्शंस ट्रेडिंग के संबंध में गाइडलाइंस जारी की, जानिए इसके फायदे  
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक कहां जल्दी से कैश (तरलता) की उम्मीद करते हैं-म्युचुअल फंड्स, इक्विटीज, डिबेंचर्स, कमोडिटी फ्यूचर्स, डेरिवेटिव्स?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक कहां ज्यादा रिटर्न की उम्मीद करते हैं-कमोडिटी फ्यूचर्स, डेरिवेटिव्स, डिबेंचर्स, इक्विटीज या  म्युचुअल फंड्स ?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: बॉन्ड्स, इक्विटीज, म्युचुअल फंड्स में से किसको सबसे ज्यादा सुरक्षित मानते हैं निवेशक ?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: रिस्क, रिटर्न के बारे में क्या सोचते हैं निवेशक ?
((आप अगर कमोडिटीज डेरिवेटिव्ज ट्रेनर्स बनना चाहते हैं, तो सेबी के इन नियमों का पालन करें  
((बेस मेटल: 2017 में भी बेहतर प्रदर्शन जारी रहेगा ! 
( कमोडिटीज वायदा कारोबार सभी वर्गों के लिए उपयोगी: कृषि और कल्याण मंत्री
((2017 में एग्री कमोडिटीज का कैसा रहेगा प्रदर्शन; क्या कहते हैं फंडामेंटल के सितारे 






Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments