भारतीय शेयर बाजार में शानदार उछाल का सिलसिला जारी, सेंसेक्स हुआ 32 हजारी

गुरुवार को भी घरेलू शेयर बाजारों में शानदार तेजी का सिलसिला जारी रहा। पिछले तीन दिनों से सेंसेक्स, निफ्टी में नए शिखर बना रहे हैं। अमेरिकी फेडरल रिजर्व की चेयरपर्सन जैनेट येलेन के ब्याज दर में बढ़ोतरी के संबंध में ताजा बयान, खुदरा महंगाई दर के पांच साल के निचले स्तर पर आने, रिजर्व बैंक की अगस्त की बैठक में ब्याज दर में कटौती, वैश्विक बाजारों में तेजी जैसे कारणों से घरेलू बाजारों में जबर्दस्त जोश दिखाई दिया। 

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स 200 से ज्यादा अंकों का उछाल दिखाते हुए पहली बार 32 हजार के स्तर के पार चला गया। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक निफ्टी भी शानदार तेजी के साथ 9900 के स्तर के करीब पहुंच गया।  बाजार के जानकार निफ्टी के जल्द ही 10000 का स्तर छूने को लेकर भविष्यवाणी करते रहे हैं। एफएमसीजी, बैंकिग, कैपिटल गुड्स, पावर शेयरों ने इस तेजी में सबसे ज्यादा योगदान दिया। 

>बाजार में तेजी के कारण:  

-जून की खुदरा महंगाई दर ते आंकड़े से बाजार को बल मिला। बुधवार को बाजार समाप्ति के बाद खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़े आए। इन आंकड़ों के मुताबिक मुद्रास्फीति जून महीने में 1.54 प्रतिशत के ऐतिहासिक निचले स्तर पर आ गई। पिछले साल के समान महीने में यह 5.77 फीसदी थी। जून की खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़ों में पिछले महीने (मई) के तुलना में भी गिरावट देखी गई. मई में यह 2.18 फीसदी थी।

-अगस्त में रिजर्व बैंक की पॉलिसी बैठक होने वाली है। खुदरा महंगाई दर के काफी नीचे आने से ब्याज दर में एक बार फिर कटौती की उम्मीद जगी है। 

- उधर, अमेरिक में फेडरल रिजर्व की चेयरपर्सन जैनेट येलेन ने ब्याज दर में बढ़ोतरी के बारे में नरम रुख अपनाने के संकेत दिये हैं। उन्होंने ब्याज दर में धीरे-धीरे बढ़ोतरी की बात कही है। 


4- विदेशी संस्थागत निवेशकों के साथ-साथ घरेलू निवेशक भी बाजार में खूब पैसा लगा रहे हैं। इस साल जनवरी से लेकर अब तक वो डेढ़ लाख करोड़  रुपए से ज्यादा का निवेश कर चुके हैं।




Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments