मई, 2017 में देश का औद्योगिक प्रदर्शन कैसा रहा

मई, 2017 के लिए औद्योगिक उत्‍पादन सूचकांक और उपयोग-आधारित सूचकांक का त्‍वरित आकलन (आधार 2011-12=100) 


 
सांख्‍यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्‍वयन मंत्रालय के केंद्रीय सांख्‍यिकी कार्यालय ने मई, 2017 के लिए औद्योगिक उत्‍पादन सूचकांक (आईआईपी) (आधार वर्ष 2011-12) के त्‍वरित आकलन जारी किये हैं। ये औद्योगिक उत्‍पादन सूचकांक 14 स्रोत एजेंसियों से प्राप्‍त आंकड़ों के आधार पर तैयार किए गए हैं। इन स्रोत एजेंसियों के नाम हैं:- औद्योगिक नीति और संवर्द्धन विभाग (डीआईपीपी), भारतीय खान ब्‍यूरो, केन्‍द्रीय बिजली प्राधिकरण, संयुक्‍त संयंत्र समिति, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय, कपड़ा आयुक्‍त कार्यालय, रसायन और पेट्रो-रसायन विभाग, चीनी निदेशालय, उर्वरक विभाग, वनस्‍पति, वनस्‍पति तेल और वसा निदेशालय, चाय बोर्ड, पटसन आयुक्‍त कार्यालय, रेल बोर्ड, नमक आयुक्‍त कार्यालय और कॉफी बोर्ड।

2. मई, 2017 के लिए सामान्‍य सूचकांक 124.3 है, जो मई, 2016 के मुकाबले 1.7 प्रतिशत अधिक है। अप्रैल-मई 2017 की ृ अवधि के लिए संचयी वृद्धि दर पिछले वर्ष की इसी अवधि के मुकाबले 2.3 प्रतिशत है।

3. मई, 2017 में खनन, वि‍नि‍र्माण और बिजली क्षेत्रों के लिए औद्योगिक उत्पादन सूचकांक क्रमश: 100.5, 125.1 और 158.7 रहे, जो मई, 2016 के सूचकांकों से (-)0.9 प्रतिशत, 1.2 प्रतिशत और 8.7 प्रतिशत हैं (विवरण-I)। इन तीन क्षेत्रों की अप्रैल-मई 2017 की अवधि में संचयी विकास दर 2016 की इसी अवधि की तुलना में क्रमश: 1.1 प्रतिशत, 1.8 प्रतिशत और 7.1 प्रतिशत है।

4. उद्योगों की दृष्टि से विनिर्माण क्षेत्र में 23 में से 12 औद्योगिक समूहों ने (दो अंकों वाले एनआईसी-2008 के अनुसार) पिछले वर्ष की तुलना में मई, 2017 में सकारात्‍मक वृद्धि दर्शायी है (विवरण-II)। उद्योग समूह ‘फर्मास्‍यूटिकल्‍स, औषधीय रसायन और बोटनिकल उत्‍पादों के विनिर्माण’’ क्षेत्र में सबसे ज्‍यादा सकारात्‍मक वृद्धि दर 24.5 प्रतिशत दर्ज की है। इसके बाद अन्‍य विनिर्माण क्षेत्र में 24.4 प्रतिशत की और अन्‍य परिवहन के उपकरणों के विनिर्माण में 11.8 प्रतिशत की  वृद्धि दर्ज हुई। दूसरी और औद्योगिक समूह पेय उत्‍पादों के विनिर्माण में सबसे अधिक (-) 16.5 प्रतिशत की नकारात्‍मक वृद्धि दर्ज की है। इसके बाद मोटर वाहनों ट्रेलर और अर्द्धट्रेलरों के विनिर्माण में (-) 15.1 और  विद्युत उपकरणों के विनिर्माण में (-) 15.0 प्रतिशत की नकारात्‍मक वृद्धि दर्ज हुई।

5. उपयोग आधारि‍त वर्गीकरण के अनुसार मई, 2016 के मुकाबले मई, 2017 में आधारभूत वस्‍तुओं में वृद्धि दर 3.4 प्रति‍शत, पूँजीगत वस्‍तुओं में (-)3.9 प्रति‍शत और मध्यवर्ती वस्‍तुओं में 0.7 प्रति‍शत और बुनियादी ढांचा / विनिर्माण सामग्री में 0.1 प्रतिशत की वृद्धि रही (विवरण - III)। उपभोक्ता टिकाऊ और उपभोक्‍ता गैर-टिकाऊ वस्तुओं में क्रमश: (-) 4.5 प्रति‍शत और 7.9 प्रतिशत वृद्धि रही।

6. मई, 2016 के मुकाबले मई, 2017 में उच्‍च सकारात्‍मक वृद्धि दिखाने वाली कुछ महत्‍वपूर्ण वस्‍तुएं इस प्रकार है- डाइजेस्टिव एनजाइम और एन्‍टासिड (पीपीआई दवाईयों सहित) 90.5 प्रतिशत, कपडा मशीनरी 51.8 प्रतिशत मीटर, (बिजली और गैर बिजली) 48.7 प्रतिशत, सोने के आभूषण (नग जड़े या न जड़े) 36.7 प्रतिशत, सुरक्षा राहत और नियंत्रण – विभिन्‍न प्रकार औद्योगिक वाल्‍व (गैर इलेक्‍ट्रॉनिक, गैर इलेक्ट्रिकल)  32.8 प्रतिशत, टेलिफोन और मोबाईल उपकरण 29.2 प्रतिशत, एल्‍यूमिनियम बिलेट्स / इनगट 23.6 प्रतिशत और चायपत्‍ती 21.8 प्रतिशत।
 7. उच्‍च नकारात्‍मक वृद्धि दिखाने वाली कुछ अन्‍य महत्‍वपूर्ण वस्‍तुयें इस प्रकार है:
एंटी हाइपर ट्राई ग्लिसराइडेमिक्‍स, एंटी हाइपरटेंसिव (-) 72.8 प्रतिशत, एयर फिल्‍टर (-) 63.7 प्रतिशत, काजू प्रसंस्‍कृत /भुना हुआ /नमकीन (-) 63.3 प्रतिशत, किली (-) 47.0 प्रतिशत, प्‍लास्टिक जार, बोतल और कनस्‍तर (-)41.1 प्रतिशत, मिट्टी का तेल  (-)40.6 प्रतिशत,
चावल (बासमती को छोडकर) (-)36.1 प्रतिशत, टूथपेस्‍ट (-)33.8 प्रतिशत, एपीआई और विटामिन (-)32.0 प्रतिशत, इलेक्ट्रिकल उपकरण (-)29.5 प्रतिशत, व्‍यावसायिक वाहन (-)26.5 प्रतिशत, वाइन के अलावा बीयर और अन्‍य अशुद्ध और फरमेंटिड शराब (-)24.9 प्रतिशत।
(Source: pib.nic.in)










Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments