सेबी ने कमोडिटी फ्यूचर्स में ऑप्शंस ट्रेडिंग के संबंध में गाइडलाइंस जारी की, जानिए इसके फायदे

कमोडिटी और कैपिटल मार्केट रेगुलेटर सेबी देश में कमोडिटी डेरिवेटिव्ज मार्केट के विस्तार को लेकर काफी काफी गंभीर है। अब कमोडिटी डेरिवेटिव्ज में निवेश करने वाले ऑप्शंस में भी ट्रेडिंग कर सकते हैं। सेबी ने कमोडिटी डेरिवेटिव्ज एडवाइजरी कमिटी (सीडीएसी) के साथ विचार-विमर्श के बाद के बाद कमोडिटी फ्यूचर्स में ऑप्शंस ट्रेडिंग के संबंध में गाइडलाइंस जारी कर दी है। रेगुलेटर ने पिछले साल 28 सितंबर को ही हालांकि, ऑप्शंस ट्रेडिंग की  मंजूरी दी थी। लेकिन, गाइडलाइंस जारी करने में थोड़ा समय लगा। गाइडलाइंस जारी होने के बाद कमोडिटी एक्सचेंज अपने प्लेटफॉर्म पर ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए प्रोडक्ट डिजाइन और जोखिम  प्रबंधन फ्रेमवर्क  तैयार कर सकते हैं। ऑप्शंस ट्रेडिंग शुरू होने के बाद ट्रेडर्स हेजिंग के जरिये अपना जोखिम कम कर
सकते हैं।   

> कमोडिटी एक्सचेंज को ऑप्शंस प्रोडक्ट लांच करने के लिए कुछ शर्तों का पालन करना होगा:
-एक्सचेंज पर पहले से जिस कमोडिटी फ्यूचर्स में ट्रेडिंग हो रही है, उसी का ऑप्शंस लांच करना होगा। 

-किस फ्यूचर्स का ऑप्शंस लांच होगा, इसके लिए भी कुछ नियम बनाए गए हैं। हर एक्सचेंज को शुरुआत में सिर्फ एक कमोडिटी के लिए ऑप्शंस प्रोडक्ट लांच करना होगा।  सिर्फ उन कमोडिटी के फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट पर ऑप्शंस ट्रेडिंग शुरू की जा सकती है, जो पिछले 12 महीने के ट्रेडिंग टर्नओवर वैल्यू की लिस्ट में टॉप 5 में शामिल हो। साथ ही ऐसी कमोडिटी के फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट का एक साल के दौरान हर दिन का औसत टर्नओवर एक निश्चित सीमा से ज्यादा हो। 

-जहां तक हर दिन का औसत टर्नओवर का सवाल है, वह एग्रीकल्चर यानी कृषि और एग्री-प्रोसेस्ड कमोडिटीज के अलग है  और दूसरी कमोडिटीज मसलन, बुलियन, मेटल, एनर्जी के लिए अलग है। एग्री और एग्री प्रोसेस्ड कमोडिटीज के लिए यह टर्नओवर लिमिट ₹ 200 करोड़ है और दूसरी कमोडिटीज के लिए ₹ 1,000 करोड़ है। 

-सेबी से अनुमति के बाद कोई भी कमोडिटी डेरिवेटिव्ज एक्सचेंज ऑप्शंस प्रोडक्ट लांच कर सकता है। 
सेबी की यह गाइडलाइंस तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। रेगुलेटर सभी कमोडिटी डेरिवेटिव्ज एक्सचेंजों को अपने मौजूदा कानून, उप-कानून और रेगुलेशन में इस गाइडलाइंस के मुताबिक बदलाव करने को कहा है। एक्सचेंज से कहा गया है कि वो अपने सभी सदस्यों को इस गाइडलाइंस की जानकारी दे दें। 

((आप अगर कमोडिटीज डेरिवेटिव्ज ट्रेनर्स बनना चाहते हैं, तो सेबी के इन नियमों का पालन करें  
((बेस मेटल: 2017 में भी बेहतर प्रदर्शन जारी रहेगा ! 
( कमोडिटीज वायदा कारोबार सभी वर्गों के लिए उपयोगी: कृषि और कल्याण मंत्री
((2017 में एग्री कमोडिटीज का कैसा रहेगा प्रदर्शन; क्या कहते हैं फंडामेंटल के सितारे 

((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 


((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments