IPO बाजार में ऐसा चमत्कार केवल तीसरी बार हुआ है, जानिए क्या

कंपनियों ने इस साल शुरुआती छह महीने  में आईपीओ (Initial Public Offering-आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) के जरिये  ₹ 10,000-करोड़ से ज्यादा की रकम जुटाए हैं। आईपीओ के इतिहास में ऐसा तीसरा मौका है, जब किसी साल के शुरुआती छह महीने में इस साधन के जरिये ₹ 10,000-करोड़ से ज्यादा की रकम जुटाई गई है। 

प्राइम डेटाबेस की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, जनवरी से जून के दौरान दर्जनों कंपनियां आईपीओ के जरिये  ₹ 11,783 करोड़ रुपए जुटाने में कामयाब रही है। इससे पहले 2007 की पहली छमाही में 54 आईपीओ ने ₹ 20,833 करोड़ और 2018 में 30 आईपीओ ने ₹ 16,441 करोड़ जुटाए थे।
Business Standard से साभार
जानकारों के मुताबिक, नई लिस्टेड कंपनियों के अच्छे प्रदर्शन, शेयर बाजारों में तेजी के अलावा, शेयर बाजार पर एफपीआई, एफआईआई, डीआईआई और खुदरा निवेशकों का भी भरोसा बना हुआ है, जिससे आईपीओ पैसे जुटाने में कामयाब हो रहे हैं।  जानकारों का ये भी मानना है कि नजदीक से मध्यम अवधि के दौरान आईपीओ बाजार में तेजी बनी रहेगी, क्योंकि बाजार में पर्याप्त लिक्विडिटी है। खुदरा के साथ-साथ संस्थानिक निवेशकों की तरफ से भी आईपीओ की भारी मांग इसकी प्रमुख वजह है। 

हालांकि, कुछ जानकार आईपीओ को लेकर आगाह भी करते हैं। उनका मानना है कि शेयर बाजार में अगर ज्यादा उतार-चढ़ाव होता है, तो इसका असर आईपीओ बाजार पर भी होगा। उनका मानना है कि इस समय शेयर बाजार अपने नए शिखर पर है, और उतार-चढ़ाव की आशंका से इनकार नहीं किया  जा सकता है।    


(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO के जरिये खरीदे गए शेयर कितने दिनों तक अपने पास रखते हैं निवेशक?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक IPO के प्रोस्पेक्टस का कौन सा हिस्सा सबसे ज्यादा पढ़ते हैं?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO का आवेदन फॉर्म ज्यादातर निवेशक कहां से खरीदते हैं?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO के बारे में जानकारी का सबसे महत्वपूर्ण स्रोत क्या है ?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO में निवेश के दौरान किन दिक्कतों का सामना करना पड़ता है?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO में निवेश पर निवेशकों की क्या राय है?

(('बिना प्रोफेशनल ट्रेनिंग के शेयर बाजार जरूर जुआ है'
((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 


((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक


Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments