सहारा इंडिया लाइफ इंश्योरेंस से नई बीमा पॉलिसी खरीदने जा रहे हैं, तो ये खबर जरूर पढ़ लीजिएगा

अगर आप सहारा इंडिया लाइफ इंश्योरेंस के मौजूदा पॉलिसीधारक हैं या फिर इस कंपनी से कोई नई पॉलिसी लेने की सोच रहे हैं, तो आपके लिए जरूरी खबर है। दरअसल, बीमा रेगुलेटर भीरतीय बीमा नियामक व विकास प्राधिकरण (आईआरडीएआई), जो कि बीमा कंपनियों की गतिविधियों पर नजर रखता है,  ने इस कंपनी पर नई पॉलिसी लांच करने पर रोक लगा दी है। रेगुलेटर का यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है। 

अपने आदेश में रेगुलेटर ने बीमा अधिनियम 1938 की धारा 52 (बी) 2 के तहत कंपनी से कहा है कि वह जमा के नए प्रस्ताव, नए कारोबार की अंडरराइटिंग तत्काल प्रभाव से बंद कर दे। इसके अतिरिक्त कंपनी से कहा गया है कि वह अपने सभी एजेंटों,दूसरे डिस्ट्रिब्यूटर चैनल  और इंटरमीडियरीज को इस फैसले की जानकारी दे ताकि वे नए बीमा कारोबार के तहत जमा के नए प्रस्ताव स्वीकार न करें।

हालांकि आईआरडीएआई ने जीवन बीमा कंपनी को अब तक के अपने कारोबार को जारी रखने की अनुमति दी है ताकि मौजूदा पॉलिसीधारकों को सेवाओं मेंं किसी तरह का व्यवधान न हो। मौजूदा पॉलिसीधारकों से वह नवीनीकरण का प्रीमियम भी स्वीकार करना जारी रखे। बीमा अधिनियम की धारा 52 (बी) 2 के तहत जारी आदेश सभी संबंधित व्यक्तियों पर लागू होंगे।

आपको बता दें कि इससे पहले 12 जून को आईआरडीएआई ने सहारा लाइफ इंश्योरेंस को झटका देते हुए इसके वित्तीय लेखाजोखा में अनियमितता के चलते प्रशासक नियुक्त किया था।


No comments