AU स्मॉल फाइनेंस बैंक को RBI का झटका, आप इसके IPO में निवेश तो नहीं करने जा रहे हैं



देश के केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपना आईपीओ जारी करने जा रहे स्मॉल फाइनेंस बैंक AU स्मॉल फाइनेंस बैंक को झटका दिया है। आरबीआई ने एक सर्कुलर जारी कर कहा है कि बिना उसकी पूर्व अनुमति इस बैंक का शेयर ना खरीदें। आप भी पढ़िये आरबीआई का इस बैंक के बारे में अधिसूचना...

भारतीय कंपनियों में संविभाग निवेश योजना के अंतर्गत विदेशी निवेश की निगरानी – सतर्कता सूची में
नाम शामिल करना – मेसर्स एयू स्माल फाइनैंस बैंक लिमिटेड
भारतीय रिज़र्व बैंक ने अधिसूचित किया है कि मेसर्स एयू स्माल बैंक लिमिटेड (पहले मेसर्स एयू फाइनैंसर्स के नाम से जानी जाती थी) प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (आईपीओ) के माध्यम से अपने इक्विटी शेयरों को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया में है। रिज़र्व बैंक ने आगे निम्नानुसार अधिसूचित किया है:
  1. उक्त कंपनी ने निदेशक बोर्ड स्तर पर आवश्यक संकल्प तथा इसके सामान्य निकाय द्वारा विशेष संकल्प पारित किया गया है जिसमें विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई)/विदेशी संविभाग निवेशकों (एफपीआई) के लिए संविभाग निवेश योजना के अंतर्गत निवेश सीमा को इस कंपनी की चुकता पूंजी के 49 प्रतिशत तक बढ़ाया गया है।
  2. इस कंपनी में संविभाग निवेश योजना के अंतर्गत सभी स्रोतों अर्थात वैश्विक निक्षेपागार प्राप्तियों (जीडीआर)/अमेरिकन निक्षेपागार प्राप्ति (एडीआई)/प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई)/ विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई)/विदेशी संविभाग निवेशकों (एफपीआई)/अनिवासी भारतीय (एनआरआई)/भारतीय मूल के व्यक्तियों (पीआईओ) के माध्यम से कुल विदेशी निवेश 49 प्रतिशत किया जा सकेगा।
  3. इस कंपनी में सभी स्रोतों अर्थात अर्थात जीडीआर/एडीआई/एफडीआई/एफआईआई/एफपीआई/एनआरआई/पीआईओ के माध्यम से कुल विदेशी शेयरधारिता ट्रिगर सीमा पर पहुंच गई है, इसलिए इस कंपनी के इक्विटी शेयरों को खरीद की अनुमति भारतीय रिज़र्व बैंक का पूर्व अनुमोदन प्राप्त किए बिना नहीं दी जाएगी।
रिज़र्व बैंक ने इसे विदेशी मुद्रा प्रबंध (भारत से बाहर रहने वाले व्यक्ति द्वारा प्रतिभूति का अंतरण या निर्गम) विनियमावली, 2000 के अंतर्गत अधिसूचित किया है।
(स्रोत-आरबीआई)

आपको बता दें कि इस बैंक का IPO (Initial Public Offering-आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) 28 जून यानी आज खुल रहा है और 30 जून को बंद होगा। इसका प्राइस बैंड ₹ 355-358/शेयर है। इसके लिए निवेशकों को कम से कम 41 शेयरों और उसके बाद 41 के मल्टीपल शेयरों के लिए बोलियां लगानी होगी। 

इस आईपीओ के तहत इसके प्रोमोटर्स  संजय अग्रवाल, ज्योति अग्रवाल, चिरंजी लाल अग्रवाल, MYS Holdings; Redwood Investment; International Finance Corporation; Labh Investments; Ourea Holdings; और Kedaara Capital Alternative Investment Fund के ₹ 10 फेसवैल्यू वाले 5.34 करोड़ शेयर्स ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के जरिये बेचे जाएंगे। 

AU स्मॉल फाइनेंस बैंक के IPO में निवेश करने वालों को एक बात ध्यान रखनी चाहिए। एंकर इन्वेस्टर्स को छोड़कर सारे निवेशकों को इस आईपीओ में एएसबीए (एस्बा) यानी Application Supported by Blocked Amount प्रक्रिया के जरिये निवेश करना होगा। साथ ही उनको इससे संबंधित बैंक खाते की भी डीटेल देनी होगी। 
((IPO में कैसे निवेश करें 
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO के जरिये खरीदे गए शेयर कितने दिनों तक अपने पास रखते हैं निवेशक?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक IPO के प्रोस्पेक्टस का कौन सा हिस्सा सबसे ज्यादा पढ़ते हैं?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO का आवेदन फॉर्म ज्यादातर निवेशक कहां से खरीदते हैं?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO के बारे में जानकारी का सबसे महत्वपूर्ण स्रोत क्या है ?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO में निवेश के दौरान किन दिक्कतों का सामना करना पड़ता है?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: IPO में निवेश पर निवेशकों की क्या राय है?

(('बिना प्रोफेशनल ट्रेनिंग के शेयर बाजार जरूर जुआ है'
((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 


((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक


Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments