2016-17 में होम लोन की वृद्धि दर में गिरावट: Icra

रियल एस्टेट सेक्टर में लगातार सुस्ती और निवेशकों द्वारा घर खरीदने के फैसले को टाले जाने और नए हाउसिंग प्रोजेक्ट की कमी का असर होम लोन की वृद्धि दर पर भी देखा जा रहा है। वित्त वर्ष 2015-16 में होम लोन (हाउसिंग क्रेडिट) की वृद्धि दर 19 प्रतिशत थी जो कि वित्त वर्ष 2016-17 में कम होकर 16 प्रतिशत पर पहुंच गई यानी वित्त वर्ष 2016-17 में होम लोन वृद्धि दर महज 16 प्रतिशत रही। यह कहना है रेटिंग एजेंसी ICRA का। 

अगर कुल हाउसिंग लोन की बात करें, तो मार्च 2016 तक यह ₹ 12.4 ट्रिलियन था जो कि मार्च 2017 तक पहुंचकर ₹ 14.4 ट्रिलियन हो गया।  

ICRA  का मानना है कि सस्ते घरों की स्कीम लॉन्च होने और उसके बढ़ावा देने से होम लोन की वृद्धि दर में इजाफा हो सकती है। रेटिंग एजेंसी के मुताबिक, इस वित्त वर्ष में हाउसिंग फाइनेंसिंग कंपनी (एचएफसी) का एनपीए 0.9-1.3 प्रतिशत रहने का अनुमान है। 

No comments