बिना सेविंग्स बैंक अकाउंट नंबर बदले, बदल सकेंगे बैंक, जानिए आपको इससे क्या फायदा होगा

आपने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी या हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी का नाम तो सुना होगा और शायद अच्छी सेवा पाने के लिए इन सुविधाओं का इस्तेमाल भी किया होगा। लेकिन, अब आप सेविंग्स बैंक अकाउंट पोर्टेबिलिटी का भी फायदा उठा सकेंगे। सेविंग्स बैंक अकाउंट पोर्टेबिलिटी एक बार फिर से सुर्खियों में है। सेविंग्स बैंक अकाउंट पोर्टेबिलिटी की सुविधा अगर मिल जाती है तो आप खराब सेवा देने वाले बैंक या फिर अपने बैंक से संतुष्ट नहीं हैं तो उस बैंक को बदल सकेंगे, बिना अपने सेविंग्स बैंक अकाउंट नंबर बदले ही। यानी इससे खाताधारक अपना अकाउंट नम्बर बदले बगैर अपना अकाउंट दूसरे बैंक में ट्रांसफर करा सकेंगे।

रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर एस एस मुंद्रा ने कहा है कि आज कई वजहों से सेविंग्स बैंक अकाउंट पोर्टेबिलिटी जरूरी हो गई है। मुंद्रा ने ही दो साल पहले भी इसकी मंजूरी देने की बात कही थी। उन्होंने कहा है कि आज तीन कारणों से सेविंग्स बैंक अकाउंट पोर्टेबिलिटी जरूरी हो गई है। पहला, बैंकिंग इंडस्ट्री में नई-नई तकनीक के आने और उसे अपनाने के बाद चुनौतियां बढ़ रही हैं। दूसरा, वित्तीय समावेशन ( Financial Inclusion) मुहिम से नए-नए ग्राहक बैंकिंग से जुड़ रहे हैं, जिनमें गांव, कस्बे, अर्धशहरी लोगों की भी संख्या बढ़ रही है। साथ ही आधार नंबर को केवाईसी के रूप में मान्य कर देने से भी नए-नए ग्राहक बैंकिंग सुविधाओं से जुड़ रहे हैं। तीसरा, बैंकों को अब पेमेंट बैंक, छोटे फाइनेंस बैंक जैसे नए खिलाड़ियों से मुकाबला करना पड़ रहा है। 

मुंद्रा ने बैंकों द्वारा ग्राहकों की शिकायतों को सही से निपटारा नहीं करने पर भी खिंचाई की और सेवाओं में बेहतरी के लिए कई सुझाव दिए।
((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 

((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments