विदेशी सैलानियों से देश की कमाई अप्रैल में 28 प्रतिशत बढ़ी

पर्यटन मंत्रालय रुपये एवं डॉलर दोनों ही लिहाज से भारत में हर महीने पर्यटन के जरिए विदेशी मुद्रा आमदनी (एफईई) का आकलन करता है। यह भारतीय रिजर्व बैंक के भुगतान संतुलन से जुड़े यात्रा प्रमुख के आंकड़ों पर आधारित होता है।
वर्ष 2016 और जनवरी-मार्च 2017 की एफईई (रुपये एवं डॉलर दोनों ही लिहाज से) में संशोधन किया गया है। वर्ष 2016 के विदेशी पर्यटक आगमन के अंतिम आंकड़े को अपनाने के मद्देनजर यह संशोधन किया गया है।
अप्रैल, 2017 और जनवरी-अप्रैल 2017 के दौरान भारत में पर्यटन से एफईई के अनुमानों की मुख्‍य बातें निम्‍नलिखित हैं
पर्यटन से विदेशी मुद्रा आमदनी (एफईई) (रुपये में)    
अप्रैल, 2017 में एफईई 14,692 करोड़ रुपये रही, जबकि अप्रैल, 2016 में यह 11,495 करोड़ रुपये और अप्रैल, 2015 में 10,091 करोड़ रुपये थी।
  • अप्रैल, 2016 के मुकाबले अप्रैल, 2017 में रुपये के लिहाज से एफईई की वृद्धि दर 27.8 प्रतिशत दर्ज की गई, जबकि अप्रैल, 2015 के मुकाबले अप्रैल, 2016 में यह वृद्धि 13.9 प्रतिशत आंकी गई थी।
  • जनवरी-अप्रैल 2017 के दौरान एफईई 18.9 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 61,605 करोड़ रुपये आंकी गई, जबकि जनवरी-अप्रैल 2015 की तुलना में जनवरी-अप्रैल 2016 में यह 15.2 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 51,812 करोड़ रुपये दर्ज की गई थी।
 पर्यटन से विदेशी मुद्रा आमदनी (एफईई) (अमेरिकी डॉलर में)
 अप्रैल, 2017 के दौरान अमेरिकी डॉलर के लिहाज से एफईई 2.278 अरब अमेरिकी डॉलर आंकी गई, जबकि यह अप्रैल 2016 में 1.726 अरब अमेरिकी डॉलर और अप्रैल 2015 में 1.609 अरब अमेरिकी डॉलर दर्ज की गई थी।
  • अप्रैल 2016 के मुकाबले अप्रैल 2017 में अमेरिकी डॉलर के लिहाज से एफईई की वृद्धि दर 32.0 प्रतिशत रही, जबकि अप्रैल 2015 की तुलना में अप्रैल 2016 में यह वृद्धि 7.3 प्रतिशत रही थी।
  • जनवरी-अप्रैल 2017 के दौरान एफईई 20.5 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 9.275 अरब अमेरिकी डॉलर आंकी गई, जबकि जनवरी-अप्रैल 2015 की तुलना में जनवरी-अप्रैल 2016 में यह 6.7 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 7.697 अरब अमेरिकी डॉलर दर्ज की गई थी।
  • (स्रोत-पीआईबी)

No comments