मार्च, 2017 में आठ कोर उद्योगों की वृद्धि दर 5.0 प्रतिशत रही


आठ कोर उद्योगों का संयुक्‍त सूचकांक मार्च, 2017 में 202.9 अंक रहा, जो मार्च, 2016 में दर्ज किए गए सूचकांक के मुकाबले 5.0 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं, वर्ष 2016-17 की अप्रैल-मार्च अवधि के दौरान आठ कोर उद्योगों की संचयी उत्‍पादन वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत रही। औद्योगिक उत्‍पादन सूचकांक (आईआईपी) में आठ कोर उद्योगों का भारांक (वेटेज) तकरीबन 38 प्रतिशत है।
कोयला 
मार्च, 2017 में कोयला उत्‍पादन (भारांक: 4.38%) मार्च, 2016 के मुकाबले 10.0 प्रतिशत बढ़ गया। अप्रैल-मार्च, 2016-17 में कोयला उत्‍पादन की वृद्धि दर पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 3.6 प्रतिशत ज्‍यादा रही।

कच्‍चा तेल 
मार्च, 2017 के दौरान कच्‍चे तेल का उत्‍पादन (भारांक: 5.22%) मार्च, 2016 की तुलना में 0.9 प्रतिशत बढ़ गया। अप्रैल-मार्च, 2016-17 में कच्‍चे तेल का उत्‍पादन बीते वित्‍त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 2.5 प्रतिशत कम रहा।

प्राकृतिक गैस
मार्च, 2017 में प्राकृतिक गैस का उत्‍पादन (भारांक: 1.71%) मार्च, 2016 के मुकाबले 8.3 प्रतिशत बढ़ गया। अप्रैल-मार्च 2016-17 में प्राकृतिक गैस का उत्‍पादन पिछले वित्‍त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 1.1 प्रतिशत घट गया।

रिफाइनरी उत्‍पाद (कच्‍चे तेल के उत्‍पादन का 93 प्रतिशत) 
पेट्रोलियम रिफाइनरी उत्‍पादों का उत्‍पादन (भारांक: 5.94%) मार्च, 2017 में 0.3 प्रतिशत घट गया। अप्रैल-मार्च 2016-17 में पेट्रोलियम रिफाइनरी उत्‍पादों का उत्‍पादन पिछले वित्‍त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 5.4 प्रतिशत अधिक रहा।

उर्वरक 
मार्च, 2017 के दौरान उर्वरक उत्‍पादन (भारांक: 1.25%) 0.8 प्रतिशत घट गया। अप्रैल-मार्च 2016-17 में उर्वरक उत्‍पादन बीते वित्‍त वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 1.8 प्रतिशत ज्यादा रहा।

इस्‍पात (अयस्‍क + गैर-अयस्‍क)
मार्च, 2017 में इस्‍पात उत्‍पादन (भारांक: 6.68%) 11.0 प्रतिशत बढ़ गया। अप्रैल- मार्च, 2016-17 में इस्‍पात उत्‍पादन पिछले वित्‍त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 9.3 प्रतिशत ज्‍यादा रहा।

सीमेंट
मार्च, 2017 के दौरान सीमेंट उत्‍पादन (भारांक: 2.41%) मार्च, 2016 के मुकाबले 6.8 प्रतिशत कम रहा। अप्रैल- मार्च, 2016-17 के दौरान सीमेंट उत्‍पादन बीते वित्‍त वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 1.3 प्रतिशत कम रहा।

बिजली 
मार्च, 2017 के दौरान बिजली उत्‍पादन (भारांक: 10.32%) में मार्च, 2016 के मुकाबले 5.9 प्रतिशत का इजाफा हुआ। अप्रैल-मार्च 2016-17 में बिजली उत्‍पादन पिछले वित्‍त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 5.1 प्रतिशत ज्‍यादा रहा।

नोट 1: ये आंकड़े अंतरिम हैं। कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, इस्पात, सीमेंट और बिजली के संदर्भ में पिछले वर्ष की समान अवधि के लिए प्राप्त संशोधित आंकड़ों के आधार पर संशोधन किया गया है। तदनुसार, मार्च, 2016 के लिए सूचकांकों को संशोधित किया गया है।
नोट 2: अक्टूबर, 2016 से ही बिजली उत्पादन के आंकड़ों में नवीकरणीय अथवा अक्षय स्रोतों से प्राप्त बिजली को भी शामिल किया जा रहा है।
(Source: pib.nic.in)

('बिना प्रोफेशनल ट्रेनिंग के शेयर बाजार जरूर जुआ है'
((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 

((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments