भारत में सोने की मांग पहली तिमाही में 15 प्रतिशत बढ़कर 123.5 टन: गोल्ड काउंसिल


भारत में एक बार फिर सोने की मांग में तेजी का रख बना है। कैलेंडर वर्ष 2017 की पहली तिमाही :जनवरी से मार्च: अवधि में सोने की मांग 15 प्रतिशत बढ़कर 123.5 टन पर पहुंच गई। विश्व स्वर्ण परिषद :डब्ल्यूजीसी: ने यह आंकड़ा जारी किया है।


डब्ल्यूजीसी के मुताबिक भारत में सोने की मांग बढ़ने से स्वर्ण उद्योग में उम्मीद जगी है। पिछले साल जनवरी से मार्च 2016 अवधि में देश में 107.3 टन सोने की मांग रही थी। आभूषण उद्योग में उत्पाद शुल्क लगाये जाने से पिछले साल आभूषण व्यापारियों की हड़ताल से कारोबार प्रभावित हुआ था।



डब्ल्यूजीसी की ‘पहली तिमाही स्वर्ण मांग रझान’ पर जारी रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2017 की पहली तिमाही में मूल्य के लिहाज से सोने की मांग 18 प्रतिशत बढ़कर 32,420 करोड़ रपये हो गई जो कि पिछले साल 27,540 करोड़ रपये रही थी।



डब्ल्यूजीसी भारत प्रबंध निदेशक सोमासुंदरम पीआर ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘2017 की पहली तिमाही में सोने की मांग 15 प्रतिशत बढ़ी है, मांग में यह वृद्धि हालांकि पिछले साल के निम्न आधार की वजह से दर्ज की गई है, पिछले साल उत्पाद शुल्क लगाये जाने से आभूषण विक्रेताओं की हड़ताल से कामकाज प्रभावित हुआ था। मांग में आई इस वृद्धि से स्वर्ण उद्योग में उम्मीद जगी है और इससे उद्योग की मजबूती के बारे में संकेत मिलता है। स्वर्ण उद्योग वर्ष 2013 से कुछ कड़ी चुनौतियों का सामना कर रहा है।’’

(स्रोत- भाषा)

No comments