SBI के सहयोगी बैंकों के ग्राहकों के लिए जरूरी खबर, पढ़े बिना आगे मत बढ़िएगा

अगर आपके पास भारतीय स्टेट बैंक के सहयोगी बैंकों का खाता है, और आप अपने बैंक के भारतीय स्टेट बैंक 
में विलय के बाद इंटरनेट बैंकिंग को लेकर चिंतित हैं तो समझिये आपकी चिंता दूर हो गई है। भारतीय स्टेट 
बैंक ने साफ कर दिया है कि अगर आप सहयोगी बैंक के इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल कर रहे है तो आपको नए सिरे से ऑनलाइन एसबीआई पर पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं है। बता दें कि ऑनलाइन एसबीआई एसबीआई की ऑनलाइन बैंकिंग फैसिलिटी है।  

अब आप सोच रहे होंगे कि सहयोगी बैंक की इंटरनेट बैंकिंग सुविधा के पुराने यूजर नेम और पासवर्ड से ऑनलाइन एसबीआई में कैसे खाता खुलेगा। तो, आपको बता दें कि इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करने के लिए आप ऑनलाइन एसबीआई की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यूडॉटऑनलाइनएसबीआईडॉटकॉम पर जाकर आपको पुराना वाला यूजर नेम और पासवर्ड डालना है। 

अगर लॉगइन को लेकर कोई समस्या आ रही है तो आप भारतीय स्टेट बैंक के कस्टमर केयर नंबरों (1800 425 800, 1800112211,080-26599990) पर संपर्क कर सकते हैं। 

((ऑनलाइन पैसे भेजते हैं, तो आपकी जिंदगी और आसान बनेगी
(('बिना प्रोफेशनल ट्रेनिंग के शेयर बाजार जरूर जुआ है'
((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 

((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments