सेबी बोर्ड बैठक आज, जानिए किन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

पूंजी बाजार नियामक सेबी के निदेशक मंडल की आज बैठक होने वाली है। अजय त्यागी  का एक मार्च को सेबी प्रमुख बनने के बाद उनकी अगुवाई में यह पहली बैठक होगी।  

माना जा रहा है कि सेबी शेयर बाजार में विवादास्पद पी-नोट के जरिये कालाधन के प्रवाह पर लगाम लगाने के लिये कड़े नियम लाएगा। साथ ही इलेक्ट्रानिक बटुए के जरिये म्यूचुअल फंड में निवेश के लिये कदम उठाएगा।

इसके अलावा सेबी जिंस डेरिवेटिव बाजार में विकल्प कारोबार की अनुमति के लिये नये नियमों पर विचार करेगा। साथ ही विदेशी निवेशकों के पंजीकरण तथा शेयर एवं जिंसों में कारोबार के लिये ब्रोकरो को साझा लाइसेंस के लिये नियमों को आसान बनाने पर गौर करेगा।


सेबी निदेशक मंडल अन्य सुधार उपायों के अलावा बैंकों तथा वित्तीय संस्थानों को उन कंपनियों में शेयर लेने से जुड़े नियम को आसान बनाने पर विचार करेगा जिन्होंने उससे कर्ज ले रखा है। इसके लिये कर्ज को इक्विटी में बदलने की अनुमति दी जा सकती है। फंसे कर्ज की समस्या से निपटने के लिये इस कदम को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।


बैठक में बड़ी कंपनियों से संबंधित लंबित जांच और मामलों का भी जायजा लिया जाएगा और अर्ध-न्यायिक मामलों से निपटने के लिये एक आंतरिक दिशानिर्देश नोट जारी करने पर विचार किया जाएगा। इसके अलावा शेयर बाजारों द्वारा शेयर कीमत में गड़बड़ी पर लगाम लगाने के लिये निगरानी उपायों को और बेहतर बनाने पर भी विचार किया जाएगा।


त्यागी बाजार के समक्ष मुद्दों के बारे में जानकारी लेने के इरादे से पूंजी बाजार से संबद्ध विभिन्न पक्षों के साथ बैठक करते रहे हैं। 

सेबी पार्टिसिपेटरी नोट (पी नोट) से निपटने के लिये नये दिशानिर्देश पर विचार करेगा। ऐसा माना जाता है कि विदेशों से कालाधन लाने में इस मार्ग का उपयोग किया जाता है।

((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 

((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments