एचडीएफसी (HDFC) म्युचुअल फंड को आईपीओ लाने की मंजूरी मिली

देश की सबसे बड़ी म्युचुअल फंड कंपनी HDFC एसेट मैनेजमेंट कंपनी को मार्केट रेगुलेटर सेबी ने आईपीओ लाने की मंजूरी दे दी है। कंपनी ने मार्च में आईपीओ के लिए सेबी को अर्जी दी थी और 22 जून को 'Observations' हासिल हुआ। आपको बता दूं  कि किसी भी आईपीओ या एफपीओ या राइट्स इश्यू के लिए सेबी का 'Observations' हासिल करना बहुत जरूरी होता है। 

HDFC एसेट मैनेजमेंट कंपनी हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन (एचडीएफसी) और स्टैंडर्ड लाइफ इन्वेस्टमेंट की संयुक्त उपक्रम है। इस आईपीओ के तहत ऑफर फॉर सेल के जरिये एचडीएफसी के 254 लाख इक्विटी शेयर और स्टैंडर्ड लाइफ इन्वेस्टमेंट के 168 लाख शेयर बेचे जाएंगे।रिलायंस निप्पन लाइफ एएमसी के बाद शेयर बाजार पर लिस्ट होने वाली यह दूसरी कंपनी है। 

इस आईपीओ की बुक रनिंग लीड मैनेजर्स Nomura Financial Advisory and Securities (India), Kotak Mahindra Capital, Axis Capital, BofA Merrill Lynch, Citigroup Global MarketsIndia, CLSA India, HDFC Bank, ICICI Securities, IIFL Holdings, JM Financial, JP Morgan India और Morgan Stanley India है। 

सेबी ने इस महीने HDFC एसेट मैनेजमेंट के आईपीओ के अलावा 6 दूसरे आईपीओ Genius Consultants, Varroc Engineering, CreditAccess Grameen, Sandhya Marines, Atria Convergence Technologies और Nekkanti Sea Foods के आईपीओ को भी मंजूरी दी है। 

>आईपीओ Vs एफपीओ  Vs ओएफएस;  IPO vs FPO Vs OFS 



Plz Follow Me on: 

No comments