फेडरल रिजर्व ने ब्याज दर स्थिर रखा, महंगाई लक्ष्य हासिल ना होना वजह, क्या दिसंबर में बढ़ेगा ब्याज !

अमेरिका का केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने सितंबर की बैठक में ब्याज दर को 0.25-0.50 % पर स्थिर रखा। फेड चेयरमैन जैनेट येलेन अमेरिकी इकोनॉमी को लेकर आश्वस्त हैं लेकिन जानकारों के मुताबिक, महंगाई का लक्ष्य हासिल ना होना, ब्याज बढ़ोतरी की राह में सबसे बड़ा रोड़ा है।
दो दिनों की बैठक के बाद फेड के जारी बयान में कहा गया है कि नई नौकरियों के निर्माण की प्रगति संतोषजनक है लेकिन महंगाई दर अभी भी अपने लक्ष्य 2% के नीचे है जो कि चिंता का विषय है। आपको बता दें कि फेडरल रिजर्व ने  फेडरल फंड्स रेट, आमतौर पर जिसे हम सिर्फ ब्याज दर कह देते हैं, में बढ़ोतरी के लिए कुछ शर्तें तय की है जिसमें एक शर्त है कि महंगाई दर का ताजा आंकड़ा कम से कम 2% होना चाहिए। इन शर्तों में लेबर मार्केट में सुधार भी शामिल है। 


फेडरल रिजर्व की चेयरमैन  जैनेट येलेन ने भी माना है कि नीति निर्माण कमिटी ने महंगाई दर का उसके लक्ष्य 2% से काफी कम रहने की वजह से सितंबर की बैठक में ब्याज दर नहीं बढ़ाने का फैसला किया। 

नीति निर्माण कमिटी ने हालांकि सितंबर बैठक में ब्याज दर स्थिर रखा लेकिन इस साल दिसंबर में ब्याज दर के बढ़ाने के संकेत दिए हैं। फेड ने अपने बयान में कहा है कि फेडरल फंड्स रेट में बढ़ोतरी को लेकर स्थिति मजबूत हुई है लेकिन इसकी शर्तों को हासिल करने के लिए कुछ और वक्त इंतजार करना सही होगा। 

जानकारों का भी मानना है कि फेड नवंबर में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव और कुछ अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं की वजह से शायद ही ब्याज दर बढ़ोतरी को लेकर कोई फैसला करे। फेड ने पिछले साल भी करीब 10 साल में पहली बार फेडरल फंड्स रेट को 0-0.25%  से बढ़ोतरी करके 0.25-0.5% किया था। 

जैनेट ने बैठक के बाद कहा कि उन्हें इकोनॉमी में भरोसा है, लेबर मार्केट सुधर रहा है और महंगाई अपने लक्ष्य से कम है, इसलिए वो ब्याज दर में बढ़ोतरी की उम्मीद कर सकती हूं। 
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
(शेयर बाजार में उतरने से पहले डमी रूप में रफ कॉपी पर शेयर खरीदता-बेचता रहा: प्रशांत कुमार बशिष्ठ, रीटेल इन्वेस्टर
(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 

No comments