इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने जा रहे हैं, तो आपके लिए जरूरी खबर

इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए नए नियम, जानिए क्या है

अगर आपके पास पहले से चली रही पुरानी इंश्योरेंस पॉलिसी हो या फिर नई इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने जा रहे हों, तो आपके लिए जरूरी खबर है। इंश्योरेंस पॉलिसी के नियम बदल गए हैं। नए नियम अगले महीने की एक तारीख या 1 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगी। अब आप मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी हो या फिर हेल्थ या फिर लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी सभी के दस्तावेज अपने स्मार्टफोन में रख सकते हैं।
((यहां कल क्या हो, किसने जाना...इसलिए इंश्योरेंस जरूर करवाना
((ऑफर डॉक्यूमेंट पढ़े बिना, इंश्योरेंस पॉलिसी कभी ना लेना

>जानिए नए नियम के बारे में:
-बीमा के लिए e-अकाऊंट खुलवाना जरूरी होगा
-IRDA यानी  इंश्योरेंस रेग्युलेटरी एंड डेलवपमेंट अथॉरिटी ने
बीमा पॉलिसी खरीदने के लिए e-अकाउंट खोलना जरूरी बनाया
- बिना  e-अकाउंट पॉलिसी नहीं मिलेगी
-e-अकाउंट एक तरह का बैंक होगा जिसमें आपकी सभी
बीमा पॉलिसी डिजीटल फॉर्म में  मौजूद होगी और
आप जब चाहे इसे एक्‍सेस कर सकेंगे.
- माइक्रो बीमा को छोड़कर किसी भी तरह की
नई बीमा पॉलिसी लेने के लिए e-इंश्योरेंस अकाउंट
खुलवाना पड़ेगा
- पुराने बीमाधारक चाहें तो दस्तावेजों को फिजिकल फॉर्म
में या e-अकाउंट में अपनी मर्जी के मुताबिक रख सकते हैं
-डिजिटल फॉर्मेट में इंश्योरेंस पॉलिसी हर जगह
मान्य मानी जाएगी
((लाइसेंस प्राप्त और वैध इंश्योरेंस ब्रोकर्स की पूरी सूची (31-08-2016 तक)

> कैसे खुलवाएं e-इंश्योरेंस अकाउंट:
-आप संबंधित बीमा कंपनी के जरिए e-इंश्योरेंस अकाउंट खुलवा सकते हैं
-इसके अलावा आईआरडीए की ओर से अधिकृत 5 रिपॉजिटरी में से एक
की वेबसाइट पर जाकर आप अपना ई-इंश्योरेंस अकाऊंट खुलवा सकते हैं
-ये 5 इंश्योरेंस रिपॉजिटरी हैं सीएएसएस रिपॉजिटरी सर्विसेज, कार्वी इंश्योरेंस
रिपॉजिटरी, सैंट्रल इंश्योरेंस रिपॉजिटरी, एनएसडीएल डाटाबेस मैनेजमेंट
और एसएचसीआईएल प्रोजैक्‍ट्स।
-इसके लिए आपको एक एप्‍लिकेशन फॉर्म भरना होगा और साथ में केवाईसी
(KYC-Know Your Client-अपने ग्राहक को जानों)
डाक्‍यूमेंट देना होगा
-आप एप्‍लीकेशन फॉर्म के साथ केवाईसी डाक्‍यूमेंट अटैच कर सकते हैं
-अकाउंट खोलने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी है. साथ ही आप
रजिस्‍टर्ड लीज और लाइसैंस एग्रीमेंट या सेल एग्रीमेंट, आधार लेटर,
राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस भी एड्रेस प्रूफ के तौर पर जमा करवा सकते हैं


((लाइसेंस प्राप्त और वैध इंश्योरेंस ब्रोकर्स की पूरी सूची (31-08-2016 तक)

((डिमैट हो जब आपकी इंश्योरेंस Policy, जीवन बने तनावमुक्त और Easy

बीमा बेमिसाल: भाग-1, बीमा क्या है 

बीमा बेमिसाल: भाग-2, इंश्योरर, इंश्योर्ड, प्रीमियम, रिस्क मैनेजमेंट के मायने 

बीमा बेमिसाल: भाग-3, इन्डेम्निटी,इंश्योरेंस पॉलिसी का मतलब

बीमा बेमिसाल: भाग-4, कहां से करवाएं इंश्योरेंस 

बीमा बेमिसाल: भाग-5, जीवन बीमा, हेल्थ इंश्योरेंस जरूरी क्यों

बीमा बेमिसाल: भाग-6, लाइफ इंश्योरेंस Vs जनरल इंश्योरेंस 

बीमा बेमिसाल: भाग-7, टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस कितना जरूरी 

बीमा बेमिसाल: भाग-8, फैमिली फ्लोटर प्लान कितना फायदेमंद 

((साधारण बीमा (Non-Life or General Insurance) कंपनियों की सूची

((जीवन बीमा (Life Insurance) कंपनियों की पूरी सूची

((रोज एक रुपए से भी कम बचाएं, अपना लाइफ इंश्योरेंस करवाएं

((फाइनेंस का फंडा: भाग-17, IRDA का क्या काम है 

((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
(शेयर बाजार में उतरने से पहले डमी रूप में रफ कॉपी पर शेयर खरीदता-बेचता रहा: प्रशांत कुमार बशिष्ठ, रीटेल इन्वेस्टर
(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 

No comments