दलहन, तिलहन, चावल का उत्पादन कम होने का अनुमान

वर्ष 2015-16 के दौरान प्रमुख फसलों का चौथा अग्रिम उत्‍पादन अनुमान जारी
वर्ष 2015-16 के लिए प्रमुख फसलों के उत्पादन का चौथा अग्रिम अनुमान कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग द्वारा जारी किया गया है।
वर्ष 2015-16 के दौरान प्रमुख फसलों का अनुमानित उत्पादन इस प्रकार है:
. खाद्यान्न – 252.22 मिलियन टन
• चावल – 104.32 मिलियन टन
• गेहूं - 93.50 मिलियन टन
• मोटे अनाज - 37.94 मिलियन टन
. दलहन - 16.47 मिलियन टन
. तिलहन - 25.3 मिलियन टन
. कपास – 30.147 मिलियन गांठें (170 किलो की प्रत्येक)
. गन्ना – 352.163 मिलियन टन

बारिश की कमी और जलाशयों में पानी की बेहद कमी के बावजूद 2015-16 के लिए देश में खाद्यान्नों के कुल उत्पादन का अग्रिम अनुमान पिछले वर्ष की तुलना में अधिक है। वर्ष 2015-16 के दौरान कुल खाद्यान्न उत्पादन, 252.22 मिलियन टन होने का अनुमान है जो 2014-15 के दौरान हुए कुल उत्‍पादन 252.02 मिलियन टन से 0.20 मिलियन टन अधिक है।

2015-16 के दौरान चावल का कुल उत्पादन 104.32 मिलियन टन होने का अनुमान है जो 2014-15 के दौरान हुए 105.48 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 1.16 मिलियन टन कम है। गेहूं का उत्‍पादन 93.50 मिलियन टन होने का अनुमान जो 2014-15 के दौरान हुए 86.53 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में 6.97 मिलियन टन अधिक है।

मोटे अनाजों का उत्पादन 37.94 मिलियन टन होने का अनुमान है जो 2014-15 के दौरान हुए 42.86 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में 4.92 मिलियन टन कम है। 2015-16 के दौरान दलहनों का उत्‍पादन 16.47 मिलियन टन होने का अनुमान है जो पिछले वर्ष के 17.15 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में थोड़ा-सा कम है। 2015-16 के दौरान तिलहनों का उत्पादन 25.304 मिलियन टन होने का अनुमान है जो पिछले वर्ष के कुल तिलहन उत्‍पादन से 2.207 मिलियन टन कम है।

इस वर्ष गन्ने का उत्पादन 352.16 मिलियन टन होने का अनुमान है जो 2014-15 में हुए उत्पादन से 10.17 मिलियन टन कम है। कपास का उत्पादन 30.147 मिलियन गांठें (प्रत्यक 170 किलो ) होने का अनुमान है जो 2014-15 के दौरान हुए 34.805 मिलियन गांठों के उत्पादन की तुलना में 4.658 मिलियन गांठें कम है।
Source: pib.nic.in
(खुद के पैसे, खर्च करें कैसे; जानें 50:30:20 फॉर्मूले से 
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
(ब्लॉग एक, फायदे अनेक


Plz Follow Me on: 



No comments