आप 'Emotional' इन्वेस्टर हैं या 'Rational' !

इन्वेस्टमेंट करते समय जब 'इमोशन' हावी हो जाए...


अगर आप शेयर बाजार में पैसे लगाते हैं और आपसे पूछा जाए कि किसी खास शेयर को खरीदने, बेचने या फिर उसमें निवेशित रहने (होल्ड) का फैसला किस आधार पर करते हैं तो इसका निम्नलिखित जवाब हो सकता है ...

-समाचार पत्र-मैगजीन-वेबसाइट में पढ़कर या न्यूज चैनल देखकर
-बाजार सेंटिमेंट
-न्यूजलेटर की सलाह को नजरअंदाज नहीं कर सकते
-पुराने तकनीकी विश्लेषण (Conventional Technical Analysis)
-दोस्त या पड़ोसी से मिले 'हॉट टिप्स'
-'मेरा मन कह रहा है'
-आपके वित्तीय सलाहकार के आधार पर

((शेयर बाजार; पैसा लगाने से पहले जानकारी लेना जरूरी 
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/06/blog-post_69.html

((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/03/blog-post_14.html

अगर आप ऐसा कर रहे हैं तो जरूर शेयर बाजार में आप निवेश नहीं कर रहे हैं बल्कि सट्टा खेल रहे हैं। ये इमोशनल इन्वेस्टमेंट का तरीका है और शेयर बाजार के करीब 98% निवशक इसी तरीके को आजमाते हैं। सिर्फ 2 % ऐसे निवेशक हैं जो तर्क (Rational)  के आधार पर फैसले लेते हैं और सही मायने में कमाई भी वही 2 % लोग करते हैं।

((SMS, ब्लॉग, वेबसाइट्स की शेयर टिप्स पर भरोसा ना करें: सेबी  
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/09/sms.html

जरा सोचिए, आप 10-15 या 20 रुपए का सामान भी खरीदते हैं तो काफी जांच-परख कर खरीदते हैं। ऐसा नहीं होता है कि किसी ने कहा वो सामान खरीद लो और आपने वो सामान खरीद लिया। तो फिर शेयर बाजार में हजारों-लाखों रुपए निवेश करते समय ऐसा करना कहां तक जायज है।

((शेयर बाय-सेल-होल्ड-स्टॉप लॉस से पहले....
((ये PE, RoCE रेश्यो क्या है
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/04/blog-post_68.html

शेयर बाजार से कमाई बहुत कुछ इस बात पर भी निर्भर करती है कि आप आप 'Emotional' इन्वेस्टर हैं या 'Rational'।

तो, आप भी अगर 'Emotional' इन्वेस्टर हैं तो शेयर बाजार के जानकारों के मुताबिक, 'Rational' बनने के लिए ये उपाय जरूर करें ....

-बाजार के मूवमेंट का अनुमान लगाने की कोशिश ना करें
-इन्वेस्टमेंट से कितना रिटर्न कमाना है, इसकी गणना
पहले कर लें
-अपने इन्वेस्टमेंट को भारी नुकसान से बचाने के लिए
स्टॉप लॉस जरूर लगाएं, जोखिम प्रबंधन का तरीका है
स्टॉप लॉस लगाना
-कामयाब इन्वेस्टर्स अपनी पहले की गलतियों से सबक लेकर
दोबारा वैसी गलती नहीं किया करते हैं
-उम्मीद के साथ नहीं, बल्कि संभावनाओं के साथ निवेश करें
-इन्वेस्टमेंट के लिए थोड़ा समय लें और गहरी प्रतिबद्धता
और अनुशासन दिखाएं
-बिजनेस प्लान की तरह इन्वेस्टमेंट प्लान बनाएं। जैसे कोई कारोबार
शुरू करने से पहले योजनाएं बनाते हैं उसी तरह शेयर बाजार में
इन्वेस्टमेंट के लिए भी आपके पास ठोस प्लान होने चाहिए...

((शेयर बाजार और डेट (FD, बॉण्ड) में कितना-कितना पैसा लगाएं
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/08/fd.html

((निवेश को नुकसान से बचाना है तो 5 गलतियों से बचें
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/08/5.html


((बचत करुं या करुं निवेश, कौन देगा ज्यादा फाइनेंशियल कॉन्फिडेंस
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/09/blog-post_14.html

No comments